अगर आप ज़िन्दगी में आगे बढ़ना चाहते है, तो लाइफ को चेंज करने वाली कोई एक principle है, जिसपे आप को डटे रहना है तो वो यह है के ‘खुद के साथ honest कैसे रहें’| हम हमेशा दूसरों को समझने की जानने की कोशिश करते रहते है| दूसरों की कमयों को बुराइओं को ढूंढ ढूंढ कर निकालते रहते है| हम हर किसी को नसीहत देते रहते है के ये करो वो मत करो| पर बड़े अफ़सोस की बात है के ये नसीहत जो हम दूसरों को देते है कभी भी खुद को नहीं देते|

 

हमारे लिए दूसरों की कमियों को ढूँढना जितना आसान है खुद की कमियों ढूँढना उतना ही मुश्किल| दुसरे किसी को क्या बदलाव की ज़रुरत है वो तो हम आसानी से देख लेते है पर हमारे खुद के अन्दर किन बदलाव को लाने की ज़रुरत है वो हम नहीं देख पते है|

दरअसल सबसे ज्यादा बदलाव की ज़रुरत हमें खुद होती है| अगर हर कोई इस बात को  मुझे दूसरों की कमयों को नहीं नलके खुद की कमियों पे ध्यान देना है, तो आप देखेंगे के हेर इन्सान अपनी ज़िन्दगी में कामयाबी की तरफ बढ़ रहा होगा|

अगर हम अपनी ज़िन्दगी में आगे बढ़ना चाहते है, अपनी ज़िन्दगी में कुछ बनना चाहते है तो हमें सबसे पहले खुद की कमयों को ढूंढना होगा| जब तक हम खुद की कमियों को देखना शरू नहीं करेंगे तबतक आपको अपनी ज़िन्दगी में कामयाब होने के लिए बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा|

तो आईए जानते है कुछ बातों को जिनको हमें खुद के अन्दर लाना चाहए ताकि हम खुद को improve कर सकें|

अहंकारी ना बने 

अहंकार ऐसा ज़हर है जो इन्सान की सारी अच्छाइयों को मिटा देता है| हम चाहें कितने भी कामयाब क्यों न बन जाये अहंकार इन्सान को ज़मीन पे ला देती है| हमारी सारी मेहनत को बेकार कर देती है| अहंकार इन्सान को असमान से ज़मीन पे ला गिरती है| कोइ भी इन्सान किसी भी अहंकारी इन्सान से दोस्ती करना नहीं चाहता है| अहंकार हमारे अन्दर आता है और हमारे सारे गुणों को बर्वाद कर देता है| इस लिए अगर हम खुद को ज़िन्दगी में आगे बढ़ाना चाहते है तो हमे अहंकार से दूर ही रहना चाहए|

खुद का और दूसरों का रेस्पेक्ट करें 

आपने ये बात ज़रूर सुनी होगी के जो लोग आगे बढने वाले होते है वो खुद को और दूसरों को रेस्पेक्ट देते है|हमें हमेशा दूसरों को इज्ज़त देनी चाहए ताकि बदले में हमें भी इज्ज़त मिल सके| किसी की भावनाओ को ठेस नहीं पहुँचाना चाहए किसी का मजाक नहीं उड़ना चाहए| इसके साथ ही हमें खुद की भी इज्ज़त करनी चाहए क्यों की ज़िन्दगी में आगे बढ़ने के लिए हमारे अन्दर आत्मविश्वास के साथ साथ आत्मसम्मान का भी होना ज़रूरी है| क्यूंकि ये आत्मसम्मान ही हमें अपने खिलाफ और दूसरों की खिलाफ हो रहे ग़लत कामों के लिए आवाज़ उठाने की हिम्मत देता है| इसलिए हमें खुद को और दूसरों को इज्ज़त देनी चाहए|

खुद से पूछें 

अगर आप ज़िन्दगी में आगे बढ़ना चाहते है तो खुद की कमियों को जानने के लिए आप खुद में उन तमाम बातों को ढूंढने की कोशिश करें जो आपको दूसरों में पसंद नहीं है या फिर आप को वो उनकी कमयां लगती है| ऐसा करने के लिए आप अपने आस पास के लोगों को observe  करना शुरू कर दें, उनकी कमयों से खुद को तौलें के क्या वो कमी आपके भी अन्दर है, या क्या वो चीजें आपके भी अन्दर है जो आपको दूसरों  में पसंद नहीं है| उन चीजों को नोट करें और अगर वो चीजें आपके भी अन्दर है तो आप उसे दूर करने की कोशिश करें|जब आप ऐसा करने लगेंगे तो आप खुद में एक नया डिफरेंस पाएंगे और ये पॉजिटिव चेंजेज़ आपको कामयाबी की तरफ ले जायेगा|

लोगों से अपनी कमयों के बारे में जाने 

आप ऐसे किसी इन्सान को चुने जो आपको अच्छी तरह जनता हो|अगर आप ज़िन्दगी में आगे बढ़ना चाहते है तो खुद के बारे में ये ज़रूर जाने के आपके आस पास के लोग आपके बारे में क्या सोचते है|अपने किसी well wisher से खुद के बारे में जाने ताकि आपको खुद को इमप्रोवे करने हेल्प मिल सके|

खुद का एक portrait तैयार करें 

एक बार जब आप ऊपर दिए गये सरे टिप्स कर लें तो फिर अपनी कमियों का खुद एक portrait बनाये| उन तमाम अलग अलग पहलुओं को उस में शामिल करें जिन्हें लोगों ने आपके द्वारा पूछे जाने पे बताया था| और उन तमाम पहलुओ को अपने लक्ष्य में शामिल करें| ये आपको remind करवाएगा के आपके अन्दर वो कौन सी चीजें है जिन्हें आपको बदलने की ज़रूरत है|