खुद को स्वस्थ कैसे रखें  -जैसा के हम जानते है स्वास्थ्य और फिटनेस एक लंबी एक्टिव और ख़ुशी देने वाली ज़िन्दगी की कुंजी है| ये कहा गया है के सेहत ही वो धन है जिसे कोई इंसान बनाये रख सकता है| स्वास्थ्य और फिट रहने का मतलब आसान लफ्ज़ों में अपने शारीर की अच्छे से देख भाल करना है| हमें याद् रखना चाहए के एक स्वास्थ्य मन केवल स्वास्थ्य शरीर में ही रहता है|दिमाग और शरीर दोनों का अच्छा स्वास्थ्य जिंदगी में कामयाबी हासिल  करने के लिए ज़रूरी एनर्जी के लेवेल को बनाए रखने में मदद करता है| इस लिए हम सभी को अच्छी सेहत को पाने के लिए कोशिश करनी चाहए|

जहा तक ख़ुशी की बात है तो ख़ुशी ऐसा है जिसे हम अपने फ्यूचर के लिए पोस्टपोन नहीं कर सकते बल्की इसे हम  अपने प्रेजेंट के लिए तैयार करते है| एक स्वस्थ मन ही खुश रह सकता है इसलिए सब से पहले जो हमें करना है वो ये के हमें खुद को स्वस्थ कैसे रखना है हमें ये जानना चाहए| हमसब में कौन ऐसा होगा जो हर वक़्त खुश रहना नही चाहता होगा हम सभी चाहते है के हम हर वक़्त खुश रहे लेकिन कुछ ऐसे वक़्त भी आते है जहाँ पे हमें खुश रहना मुश्किल हो जाता है| और जब भी हम ऐसी मुश्किल में फांस जाये तो इसका सलूशन ये है के हमें दूसरों पे अपनी डिपेंडेंसी को ख़त्म कर के खुद पे डिपेंड होना चाहिए और अपनी मदद हमे खुद करनी चाहए|

तो अये जानते है कुछ तरीक़े जिस को अपना कर हम Healthy, Happy और Motivated रह सकते है|

अपना डाइट चार्ट बनाये 

बदलती लाइफस्‍टाइल और मसरूफ दिनचर्या के कारण डाइट चार्ट को फालो करना मुश्किल है। लेकिन आपको बीमारियों से दूर रखने में डाइट चार्ट बहुत मदद करता है। डाइट चार्ट के अनुसार खाने से मोटापा, डायबिटीज, एसिडिटी, ब्‍लड प्रेशर, कैंसर जैसी घातक बीमारियां नही होती हैं।
अगर  आप डाइट चार्ट बना रहे हैं तो उसे मौसम के हिसाब से ही बनायें। जैसे कि गर्मी के मौसम में पानी और अन्‍य लिक्विड  ज्‍यादा होने चाहिए। सर्दी में मीट और डेयरी प्रोडक्ट्स को भी शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा सीजनल और हरी सब्जियों को जरूर डाइट चार्ट में शामिल कीजिए। आइये देखते है के आप अपना डाइट कैसे प्लान करें|

सुबह-सुबह – सुबह की शुरूआत ज्‍यादा भारी खाने से बचें। आप एक गिलास दूध मलाई के साथ  लीजिए, इसके अलावा 3-4 बादाम भी दूध के साथ खा  सकते हैं।

सुबह नौ बजे – ये  वक़्त  ब्रेकफास्‍ट का है, ज्‍यादातर लोग इस समय अपने काम की शुरूआत करते हैं। नाश्‍ते में अंकुरित अनाज एक प्लेट मिक्स या वेजीटेबल और रोटी  ले सकते हैं। इसके साथ ग्रीन टी या एक गिलास जूस भी फायदेमंद होगा।

दोपहर यानी लंच –  दोपहर 12 बजे लंच का वक़्त होता है। इस वक़्त  खाना खा सकते हैं। दो चपाती चौकर सहित, छिलके वाली दाल एक कटोरी, चावल आधा कटोरी, हरी सब्जी एक कटोरी, दही एक कटोरी, सलाद एक प्लेट शामिल करना आपके सेहत के लिए फायदेमंद होगा साथ ही इनमें भरपूर मात्रा में पोषण होता है जो शरीर को हेल्‍दी रखता है।

तीन या चार बजे के बीच – लंच करने के लगभग तीन घंटे बाद हल्‍का सा नाश्‍ता करना चाहिए। इसके लिए चाय एक कप, भेल एक प्लेट या दो बिस्किट, कोई भी सीजनल एक फल ले सकते हैं।

रात यानी डिनर – डिनर में दोपहर जैसा खाना ले सकते हैं। रात के खाने में चावल ज्‍यादा मात्रा में शामिल न करें। इसमें दाल, दो चपाती, हल्‍का चावल, एक कप दही और एक प्‍लेट सलाद लीजिए। सोने से करीब तीन घंटे पहले डिनर करना चाहिए, इससे खाना अच्‍छे से डाइजेस्‍ट हो जाता है और पेट की समस्‍या (कब्‍ज और एसिडिटी) नही होती है।

Exercise करना न भूलें 

Exercise फिट (healthy) रहने या बनने में सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है। Experts का सुझाव है कि आपको प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट के लिए एक्टिव होना चाहिए। अपने exercise को उसी तरह शेड्यूल करने की कोशिश करें जैसे के आप दुसरे अपॉइंटमेंट्स और कमिटमेंट को शेड्यूल करते हैं

Exercise को अपनी हैबिट बना लें 

अगर आप इसे regularly करते हैं तो आप exercise से सबसे अधिक लाभ देखेंगे।  इस आदत पे डटे रहने का एक अच्छा तरीका यह है कि आप जिस exercise  को पसंद करते है उसे चुने|अगर आपको तैराकी पसंद है, तो इसे हफ्ते में दो बार तैरने के लिए पॉइंट बना लें|

  • अपने रूटीन के साथ रहना आसान बनाये-अगर आप कोई भी exercise कर रहे है तो शुरुआत में ऐसा exercise अपनाये जिसको करना आसान हो|ऐसा न करे के शुरुआत में ही भड़ी भरकम exercise शुरू करे और फिर कुछ दिन करने के बाद उसे छोर दें क्यों की उसे संभालना मुश्किल हो रहा था|इस लिए हमें शुरुआत पहले हलके फुल्के अंदाज़ में करना चाहए ताकि हम उस पे डटे रहे|

  • टेक्नोलॉजी का यूज़ करें- ऐसे gadgets का यूज़ करे जो आपके मूवमेंट को ट्रैक कर सके
  • हार न माने-किसी भी काम का आदत  बनाने में आमतौर पर 20 से 30 दिन लगते हैं। exercise करना जारी रखें, और आप देखेंगे ली कुछ ही दिनों में यह आपके दिन का एक नेचुरल हिस्सा बन जाएगा।

बाहर निकलने की आदत डालें

बाहर exercise करना आपके मानसिक हेल्थ  के लिए भी पॉजिटिव फ़ायदा देता हैं। कुछ रिपोर्ट्स में ये सामने आया है के जो लोग अन्दर और बहार दोनों जगह exercise करते है वो उसे ज्यादा एन्जॉय करते है इसलिए आप भी कोशिश किजए के अगर पॉसिबल हो तो अन्दर और बहार दोनों जगह exercise करें|और बहार exercise करने के लिए पार्क एक अच्छी जगह है|

अपने नाश्ते को न छोड़ें

हम कई बार सुन चुके हैं कि नाश्ता दिन का सबसे जरूरी खाना होता है। और यह बात पूरी तरह सच भी है। य‍ह दिन का पहला भोजन होता है। सात आठ घण्टे की नींद के बाद यह पहला भोजन होता है। और इसलिए इसकी अहमियत और भी ज्यादा हो जाती है। आप नाश्ते में क्या खाते हैं इसका असर सारे दिन के  एक्टिविटी पर पड़ता है। जब कभी हमारे पास वक्त की कमी होती है, तो हम सबसे पहले नाश्ता छोड़ देते हैं। हम उसे जरूरी नहीं समझते। हमें लगता है कि नाश्ता किये बिना भी हमारा काम चल सकता है। लेकिन, वास्तव में नाश्ता बहुत जरूरी होता है उसे न करने से हमें काफी नुकसान होते हैं।

खुद को हाइड्रेट रखें

हाइड्रेटेड रहने के लिए पूरे दिन पानी पीना ज़रूरी कर लें । अगर आप ठीक से पानी नहीं पियेंगे तो ये आप के भूक न लगने का करण भी बन सकता है| तो पानी को अपने रूटीन में शामिल करें|और ज्यादा से ज्यादा पानी पिने की आदत डाल लें|

नींद का रखें ख्याल

भूक से ज़यादा  न खाएं

आपने अक्सर देखा होगा कई लोग पेट भर जाने के बाद भी खाना नहीं छोड़ने उन्हें लगता है कि सिर्फ ज्यादा खाने से ही अच्छी सेहत मिलती है पर ऐसा नहीं है। कभी भी भरपेट न खाएं, पेट में हमेशा कुछ जगह खाली छोड़ें। इस से आपकी सहत पे अच असर परता है और आपको स्वस्थ रहने में मदद करता है |

तो इन हैबिट्स को अपना के आप अपने हेल्थ को अच्छा कर सकते है और ये हैबिट्स आपको अपनी अच्छी हेल्थ को मेंटेन रखने में भी हेल्प करेगी