Meditation दिमाग़ को ट्रेनिंग देने का एक Approach है। ठीक उसी तरह से जैसे फिटनेस बॉडी को ट्रेन करने का Approach है। आज कल Meditation बहुत कॉमन हो गया है। हम सभी मैडिटेशन से अच्छे से परिचित है। टीवी और इन्टरनेट ने इसमें बहुत मदद की है। पर अक्सर यही देखने में आता है के लोग इसकी शुरुआत तो बहुत ज़ोर शोर से करते है पर धीरे धीरे उनके लगन और मेहनत में कमी आ जाती है। और एक दिन ऐसा आता है के हम इसे करना बिलकुल छोर देते है।

Meditation Meditation[/caption]

कुछ लोगों को मैडिटेशन एक बोरिंग काम लगता है। जिसे करने में उन्हें कुछ नया और रोचक नहीं लगता। पर मेरे हिसाब से मैडिटेशन से ज़्यादा रोचक कुछ भी नहीं है बशर्ते के आपको पता हो आपको क्या और कैसे करना है। 

मैडिटेशन हमें अपने ध्यान को एक जगह केंद्रित करने में मदद करता है। ये हमें अपनी तमाम आदतों को बनाने में मदद करता है। इस से हमें और ज्यादा शांति मिलती है और हमारा माइंड फोकस्ड रहता है। आपको आपके खुद के माइंड को समझने में आपकी मदद करती है। तो आज जानते है कुछ टिप्स को जो आपको मैडिटेशन की Habbit को डालने में आपकी मदद करेगी। 

Meditation के लिए टिप्स 

निचे दिए गए सरे टिप्स को आप एक बार ही स्टार्ट करने की कोशिश न करें पहले थिरे से शुरुआत करें फिर धीरे धीरे अपनी आदत को बढ़ाये। 

सिर्फ दो मिनट के लिए बैठे : दो मिनट के लिए Meditate करना आपको काफी आसान लगेगा। आप मैडिटेशन सिर्फ दो मिनट से एक हफ्ते तक के लिए स्टार्ट कीजये। अगर वो अच्छी तरह से आप से हो जाता है तो फिर अगले एक हफ्ते के लिए 2 मिनट और बढ़ा दिजए। अगर आपका सुब कुछ ठीक चल रहा है तो इसी तरह से आप अपने Duration को धीरे धीरे बढ़ा दें लेकिन याद रहे शुरुआत हमेशा एक छोटे से स्टेप से करें। 

हर सुबह पहली बात यह करें: यह कहना बहुत आसान है के मैं मैडिटेशन करूँगा लेकिन। लेकिन फिर आप इसे भूल जाएँ। इसके उलट आप हर सुबह एक रिमाइंडर सेट करें और एक नोट लिखे जिसे आप देख सकें के आपको मैडिटेशन करना है। 

 

कैसे करें में न उलझे बस करें : बहुत सारे लोग इन बातों में उलझते रहते है के वो किधर बैठे, कैसे बैठे, ये सारी बातें अच्छी है पर उतनी अच्छी नहीं के शुरुआत में इन बातों के बारे में सोचा जाये। शुरुआत आप कहीं से भी कर सकते है अपने बेड से,चेयर से या फिर फ्लोर से जहाँ पे भी आपको आराम महसूस हो। 

 

चेक करें के आप कैसा महसूस कर रहे है : जब आप अपने मैडिटेशन में सेट हो जाएँ तो खुद को देखने के लिए चेक करें के आप कैसा महसूस कर रहे है ? आपका बॉडी कैसा महसूस कर रहा है?

 

अपनी सांसों को गिने : अब जब आप सेटल हो चुके है तो अब आप अपना Attention अपनी  सांसों की तरफ लायें के कैसे ये आपके नखों से होता हुआ आपने फेफ्रों तक पहुँचता है इसे महसूस करें

 

Loving Attitude डेवेलोप करें: Meditation के दौरान जब आपके अन्दर भावनाए उत्पन होने लगें तो उन्हें फ्रेंडली नज़र्ये से देखें, उनके साथ कठोरता से पेश न आयें। 

 

दिमाघ को क्लियर कारने के बारे में ज़्यादा न सोचें:  बहुत सारे लोग ये सोचते है के मैडिटेशन आपके माइंड को क्लियर करने और तमाम सोचों को रोकने के बारे में है, लेकिन ऐसा नहीं है। ऐसा कभी कभी होता है, लेकिन ये मेंडिटेशन का Goal नहीं है। अगर आपको थॉट्स आते है तो ये एक नार्मल बात है।

 

बॉडी स्कैन करें : जब आप अपने सांसों को फॉलो करने में कुछ बेहतर हो जाएँ तो दूसरी चीज़ जो आप कर सकते है वो है के अपने किसी एक बॉडी पार्ट पे एक वक़्त में फोकस करें

 

एक कम्युनिटी ढूंड लें : एक कम्युनिटी जो मेडिटेशन करते हो उन्हें ढूंड कर उनसे जुड़ जाएँ ताकि आप उनके साथ जा कर मैडिटेशन कर सकें। या फिर किसी ऑनलाइन कम्युनिटी से जुड़ कर उनसे सवाल करें और दूसरों को मोटीवेट करें।

 

Meditation हमेशा आसान या शांतिपूर्ण नहीं होता है। लेकिन यह वास्तव में अद्भुत फायदे पहंचता है, और आप आज से इसे शुरू कर सकते हैं, और अपने बाकी के जीवन के लिए जारी रख सकते हैं।